-->

Mutual Funds में निवेश कैसे करें - How To Invest In Mutual Funds

V singh
By -

How To Invest In Mutual Funds In Hindi:- नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत हैं इस ब्लॉग लेख में जहां आज हम आपके लिए निवेश से सम्बन्धित बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी लाए हैं. जिससे की आप अपने पैसे को सही तरीके से म्युचुअल फंड्स में निवेश कर अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकतें हों।

दोस्तों जैसा की आपकों पता ही होगा इस मंहगाई के जमाने में हर इंसान को अगर अपना और अपने बच्चों का भविष्य बेहतर रखना हैं तो उसको आज अपने कमाई का कुछ हिस्सा भविष्य के लिए बचा कर रखना ही होगा वो भी ऐसी जगह जहां से उसे बचाएं पैसे से अच्छा रिटर्न प्राप्त हों सकें।

आज के समय में देखा जाएं तो ज्यादतार लोग अपने पैसे को RD ( Recurring Deposit ) या FD ( Fixed Deposit ) में निवेश करना पसंद करतें हैं. क्योंकी यहां किसी भी प्रकार का कोई जोखिम नहीं होता और उनका निवेश Save रहता हैं साथ ही उसमें एक फिक्स रेट के साथ उनको ब्याज मिलता हैं. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे की RD या FD में आपकों 8% तक भी  ब्याज नही मिलता और वही बात करें Mutual Funds की तो अगर आप अपने रिस्क और रिसर्च के आधार पर एक अच्छे म्युचुअल फंड्स में निवेश करते हों सकता हैं. वो आपको आपके निवेश में 10 , 20 , 25 30 % या उससे भी ज्यादा रिटर्न दे जाए।

अगर आप Mutual Funds में निवेश करने की योजना बना रहें हों तो आपको कुछ बातों की समझ होना बहुत जरूरी हैं. क्योंकि म्युचुअल फंड्स में किए गए निवेश पर मार्केट के उतार चढ़ाव का भी असर पड़ता हैं. इस लिए सूझ बूझ के साथ अपनी जोखिम उठाने की क्षमता के आधार पर किसी अच्छे Mutual Funds में निवेश करने की योजना बनाना सही रहता हैं. अगर आप किसी भी अच्छे म्युचुअल फंड्स में लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करते हो तो उसमें आपको कंपाउंडिंग का फायदा मिलता हैं।

Table of Content (toc )

Mutual Funds में निवेश कैसे करें ( How to Invest in Mutual Funds )

दोस्तों म्युचुअल फंड में निवेश आप दो प्रकार से कर सकते हों पहला Lumpsum दुसरा SIP ( सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लेन ) के द्वारा लेकिन इसके लिए भी आपकों एक अच्छे से Mutual Funds को चुनना होगा जिसके बाद आप  ऑनलाइन या तो उस म्यूचुअल फंड की वेबसाइट में जा वहा लॉगिन कर अपना KYC पूरा कर उसमें Lumpsum या SIP के जरीए निवेश कर सकतें हों या फिर आप किसी ऑनलाइन स्टॉक ब्रोकर जैसे Zarodha,Groww, Upstox आदि पर Demat Account बना स्टॉक्स के साथ ही किसी भी कम्पनी के म्युचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हों क्योंकि यह ऑनलाइन स्टॉक ब्रोकर निवेशकों को म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने की सुविधा भी देते हैं।
How to Invest in Mutual Funds
Mutual funds Nivesh 

म्युचुअल फंड में Lumpsum और SIP क्या हैं

हमनें इस लेख में आपको उपर बताया की म्युचुअल फंड्स में हम निवेश दो तरीके से करते हैं. Lumpsum और SIP लेकिन अब आप सोच रहें होगे की आखिर यह क्या हैं. तो चलिए आपकों बताते हैं।
एकमुश्त ( Lumpsum ) -  म्युचुअल फंड्स में एक ही बार में एक बड़ा अमाउंट निवेश करना एकमुश्त ( Lumpsum ) निवेश कहलाता हैं 
उदाहरण :- मान लो आप के पास 50 हजार रूपए हैं. और आप उसे निवेश करना चाहते हों तो आप उसे किसी भी म्युचुअल फंड्स में एक ही बार में निवेश कर सकतें हो 

सिस्टमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान ( SIP ) -  म्युचुअल फंड्स में रेगुलर या मंथली निवेश करना सिस्टमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान ( SIP ) कहलाता हैं. आप म्युचुअल फंड्स में SIP के जरीए 100 रूपये से भी निवेश की शुरुवात कर सकते हो।

अगर आप लम्बे समय के लिए किसी म्युचुअल फंड्स में SIP के जरीए निवेश करते हो तो आपको कंपाउंडिंग का फायदा मिलेगा लेकिन अगर Fund का NAV लगातार बढ़ता गया तो ऐसे  में आपको SIP के बजाया Lumpsum निवेश ज्यादा फायदा दिला सकता हैं।

म्यूचुअल फंड्स में NAV क्या हैं 

दोस्तों जैसा की हमनें इस लेख में ऊपर बताया की अगर किसी भी म्यूचुअल फंड्स में निवेश करनें पर अगर Fund का NAV लगातार बढ़ता है. तो ऐसे में SIP से अच्छा रिटर्न हमें एकमुश्त ( Lumpsum ) निवेश में देखने को मिलता हैं. ऐसे में अब आपके मन में NAV क्या हैं यह चल रहा होगा तो चलिए आपको आसान शब्दों में बताते हैं।

NAV यानी Net Asset Value किसी भी Mutual Fund के Unit ग्रोथ को दर्शाती हैं. यानी अगर आप ने किसी म्युचुअल फंड में NAV 20 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से निवेश किया और उसकी एक साल में NAV 40 रूपये प्रति यूनिट हो जाती हैं. तो एसे में माना जाता हैं की उस फंड्स ने 100% का शानदार रिटर्न दिया हैं।

म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने से पहले यह भी जान ले 

अगर आपको Mutual Funds में निवेश करना हैं. और आप जानना चाह रहें हों की How to Invest in Mutual Funds In Hindi तो आपको निवेश से सम्बन्धित कुछ और चीजों को समझ लेना चाहिए और एक अच्छे म्युचुअल फंड्स को खोज उसमें निवेश करना चाहिए आपकी जानकारी के लिए बता दे की म्युचुअल फंड दो तरह के होते हैं. पहला Open Ended Mutual Funds और दुसरा Closed Ended Mutual Funds तो चलिए जानतें हैं यह क्या होते हैं।

Open Ended और Closed Ended Fund

आपकी जानकारी के लिए बता दे की Open Ended Fund वो फंड होते हैं. जिसमें हम जब चाहे निवेश कर सकतें हैं. और जब चाहे  इसे बेच सकतें हैं. ओपन एंडेड फंड में आप Lumpsum और SIP दोनों तरीके से निवेश कर सकते हो साथ ही आप जब चाहो इससे पैसे निकाल सकतें हों क्योंकी यह फंड High Liquidity देते हैं।
और बात करें Closed Ended Fund की तो इसे आप केवल AMC से New Fund Offer के दौरान खरीद सकतें हैं. आप इसमें सिर्फ Lumpsum निवेश कर सकतें हों साथ ही एक बार इस फंड में निवेश करने के बाद इसे मैच्योरिटी पर ही रिडीम कराया जा सकता हैं।

Direct Plan और Regular Plan

म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने से पहले आपका यह जानना बहुत जरूरी हैं. की आखिर Mutual Funds में Direct या Regular Plan क्या हैं. क्योंकी लॉन्ग टर्म में इसका असर आपके निवेश में पड़ता हैं. आपकों बता दे की आज के समय में किसी भी म्युचुअल फंड में निवेश करने के दो ऑप्शन होते हैं पहला रेगुलर दुसरा डायरेक्ट हालाकी दोनों प्लेन के तहत आप एक ही म्युचुअल फंड में निवेश कर रहें हो लेकिन लॉन्ग टर्म में इनके रिटर्न में लाखों रुपए का डिफरेंस हो जाता हैं. और यह सब होता हैं, Regular और Direct Plan में Expense Ratio की  वजह से हमें अपने निवेश पर म्युचुअल फंड्स को सालाना कितनी फीस देनी है यह एक्सपेंस रेश्यो बताता है.
अगर बात करें Regular Plan की तो इसका एक्सपेंस रेश्यो Direct Plan से डबल या उससे भी ज्यादा हों सकता हैं. क्योंकी इसमें डिस्ट्रीब्यूटर का कमीशन भी होता हैं. जिससे की हमे लॉन्ग टर्म में रिटर्न में लाखों का डिफरेंस देखने को मिलता हैं।

Direct Plan- हम किसी म्युचुअल फंड में बिना किसी Agent या Advisor के ही डायरेक्ट म्युचुअल फंड हाउस या फंड की वेबसाइट, ऐप से Fund में निवेश करते हैं. जिसमें हमें कोई डिस्ट्रीब्यूटर कमीशन नही देना होता।

Regular Plan - हम किसी म्युचुअल फंड् में Agent, Broker , Advisor की मदद से निवेश करते हैं. तो यहां पर हमारे और म्युचुअल फंड के बीच में एजेंट, ब्रोकर या एडवाइजर एक डिस्ट्रीब्यूटर का काम करतें हैं. ऐसे में म्युचुअल फंड अपने डिस्ट्रीब्यूटर को सालाना बेसेज में  ट्रेलिंग कमीशन देता हैं. जो हमारे निवेश का 1 प्रतिशत तक हो सकता हैं।

म्यूचुअल फंड के रिटर्न में TAX लगता हैं या नहीं 

आपकों बता दे की म्युचुअल फंड में निवेश का रिटर्न टैक्स के दायरे में आता हैं. टैक्स सिस्टम के आधार पर इसे दो भागों में बाटा गया हैं.  STCG ( शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन्स ) और LTCG ( लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स ) इसके अलावा Mutual Funds में Divident के मामले में भी  DDT ( डिविडेंट डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स भी लगता हैं. साथ ही फंड्स के मुताबिक TDS भी कटता हैं।

Groww के जरिए म्युचुअल फंड्स में निवेश कैसे करें

अगर आप जानना चाहते हों की Groww से Mutual Funds में निवेश कैसे करें तो आपकों बता दे की इसके लिए सबसे पहले आपकों Groww App  डाउनलोड कर उसमें अकाउंट बनाना होगा जिसके बाद आप आसानी से किसी भी कंपनी के म्युचुअल फंड्स में Groww के जरीए निवेश कर सकतें हों कैसे चलिए जानतें हैं।
  • सबसे पहले आपकों Groww App को ओपन कर लेना हैं।
  • अब आप Groww के Home पेज में आ जाओगे जहां आपको सबसे नीचे तीन ऑप्शन देखेंगे Stocks , Mutual Funds, Pay 
  • आपकों Mutual Funds के ऑप्शन में क्लिक करना हैं।
  • अब आपको Collections में कुछ ऑप्शन देखेंगे जैसे High Return , SIP With ₹100 , Tax Saving, Large Cap, Mid Cap , Small Cap आप अपने हिसाब से किसी में क्लिक करें।
  • बहुत सारे म्युचुअल फंड्स आपको देखेंगे आपको जिसमें निवेश करना है. उस पर क्लिक करें।
  • अब नए पेज में आप उस म्यूचुअल फंड्स का All Time डाटा देख सकतें हों।
  • अगर आपको उस म्यूचुअल फंड्स में निवेश करना है तो सबसे नीचे आपको दो ऑप्शन देखेंगे पहला One Time, दूसरा Start SIP 
  • यहां पर One Time का मतलब Lumpsum निवेश हैं, आप जिस भी प्रकार का निवेश करना चाहते हो कर सकतें हों इसके लिए आपको किसी एक में क्लिक करना हैं।
  • अब आपको जितना अकाउंट निवेश करना है वो डाल कर इन्वेस्ट में क्लिक करना है।
  • जिसके बाद आप Google Pay या नेट बैंकिंग के द्वारा अमाउंट डाल देना हैं।
दोस्तों कुछ इस प्रकार आप Groww  के जरीए Mutual Funds में निवेश आसानी से कर सकते हों साथ ही आप ग्रो के जरीए Stocks में भी निवेश कर सकते हों।

डिस्क्लेमर:- म्युचुअल फंड्स निवेश बाजार जोखिम के अधीन हैं. योजना सम्बन्धित सभी दस्तावेजों को सावधानी से पढ़े।

अन्य जानकारी
👇👇👇👇

FAQ:- How To Invest In Mutual Funds 

प्रश्न- Mutual Funds में जोखिम होता हैं?
उत्तर- जी हां म्यूचुअल फंड में निवेश करना जोखिम भरा होता है. इस लिए सोच समझ कर एक अच्छे म्युचुअल फंड में निवेश करना चाहिए।

निस्कर्ष :- 

आज के इस ब्लॉग लेख में हमनें जाना की Mutual Funds में निवेश कैसे करें ( How to Invest in Mutual Funds in Hindi ) और म्युचुअल फंड्स में निवेश करने से पहले हमें किन बातों का पता होना चाहिए आशा करतें हैं. आपकों यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी और इससे आपको म्युचुअल फंड में निवेश के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिला होगा धन्यवाद आपका दिन शुभ हों।